25/06/2015

जानिए मानव शरीर से जुड़ी 9 बेहद दिलचस्प जानकारियां



मानव शरीर ईश्वर की सर्वश्रेष्ठ रचना है। यह हज़ारों काम करता है। भले ही उसके कुछ कार्य देखने में मामूली से लगें परन्तु वे अच्छे स्वास्थ्य के लिए बेहद महत्वपूर्ण हैं। आइए मानव शरीर सेजुड़ी कुछ रोचक जानकारियों के बारे में बात करते हैं जो शायद आपको पहले नहीं पता होंगी।

1. मानव शरीर में बालों की संख्या चिम्पैंजी के बराबर ही होती है



एक वयस्क मानव शरीर में बालों की संख्या उतनी ही होती है जितनी किसी चिम्पैंजी के शरीर में। अंतर बस इतना है की मानव शरीर के बाल चिम्पैंजी के बालों की तुलना में बहुत महीन और पतले होते हैं। साथ ही मानव शरीर ने अपने विकासक्रम में कपड़े पहनने के बाद से बालों के माध्यम से अपने शरीर की सुरक्षा और तापमान बनाए रखने की क्षमता खो दी है।

2. रोंगटे क्यों खड़े होते हैं?



अपने कई बार अपने शरीर में रोंगटे खड़े होते हुए अनुभव किए होंगे। ऐसा पिलोमोटर रिफ्लेक्स के कारण होता है। आदिकाल में जब भी मानव को किसी प्रकार के खतरे की आशंका होती थी या उसे अपना तापमान बढ़ाने की आवश्यकता पड़ती थी तो उसके रोंगटे खड़े हो जाते थे। जिससे उसके बालों के आकार में कुछ बढ़ोत्तरी हो जाया करती थी। हालाँकि शरीर का यह गुण अब उपेक्षित हो गया है लेकिन विकासक्रम के उस दौर के लक्षण आज भी रोंगटे के रूप में हमारे साथ हैं।

3. जीवन भर में पलक झपकाने में हुआ व्यतीत कुल समय

एक औसत मानव शरीर अपने पूरे जीवनकाल में लगभग पांच वर्ष पलक झपकाने में व्यतीत करता है। यह प्रक्रिया आँखों के लिए बहुत ही उपयोगी है क्यूंकि इससे आँखों की सुरक्षा होती है। पलक झपकने से आँखों में चिकनाहट और नमी भी बनी रहती है जिसके अभाव में आँखें बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो सकती हैं।

4. उलटे हाथ से काम करने वाले ज़्यादा ताकतवर होते हैं


भले ही इसका कारण भौतिकी के नियम हों लेकिन यह सच है कि उलटे हाथ से कार्य करने वाले लोग सीधे हाथ से कार्य करने वाले लोगों की तुलना में अधिक ताकतवर होते हैं। उदाहरण के लिए उलटे हाथ से कार्य करने वाले व्यक्ति किसी डब्बे के टाइट लगे ढक्कन को सीधे हाथ से कार्य करने वाले व्यक्ति की तुलना में आसानी से खोल देंगे। हालांकि जब डब्बा बंद करने की बात हो तो इसमें सीधे हाथ से कार्य करने वाले व्यक्ति को ज़्यादा आसानी होगी।

5. हमारे पेट में एसिड होता है

हमारे पेट या आमाशय में क्लोरिक एसिड पाया जाता है जिसका निर्माण आमाशय में उपस्थित कोशिकाएं करती हैं। आद्योगिक स्तर पर इस एसिड का प्रयोग धातुशोधन में भी किया जाता है क्यूंकि क्लोरिक एसिड बहुत ही तेज़ होता है।

6. शरीर अरबों बैक्टीरियाओं का घर

हमारे शरीर में अरबों बैक्टीरिया रहते हैं। तथ्य तो यह है कि इनकी संख्या हमारे शरीर की सारी कोशिकाओं की संख्या से दस गुने से भी ज़्यादा होती है। इसका यह अर्थ नहीं है कि ये सारे बैक्टीरिया हमारे लिए नुकसानदायक हों बल्कि कुछ बैक्टीरिया हमारे अच्छे स्वास्थ्य के लिए बेहद ज़रूरी भी हैं।

7. झपकी लगना आपकी सेहत के लिए अच्छा है

20 मिनट की एक झपकी सेहत से जुड़ी कई समस्याओं से आपको बचा सकती है। यह एकाग्रता को बढाती है। साथ ही यह आपके मूड को भी अच्छा रखती है। क्रियाशीलता बढ़ाने में भी यह बहुत महत्वपूर्ण है।

8. ढेर सारी मृत कोशिकाएं

प्रतिदिन हमारे शरीर में लाखों कोशिकाएं मरती हैं। जिनमें से सबसे ज़्यादा त्वचा की कोशिकाएं होती हैं। एक साल में मरी हुई कोशिकाओं को तौला जाए तो उनका कुल वज़न लगभग 2 किलो होगा।

9. संवेदनशीलता

हमारे शरीर में कई तंत्रिकाएं होती हैं जिनके सिरे हमारी त्वचा पर होते हैं। जिनके माध्यम से ही हम वस्तुओं के स्पर्श को अनुभव कर पाते हैं। हमारे शरीर का सबसे संवेदनशील भाग हमारे होठों और उँगलियों पर होता है जबकि काम संवेदनशील भाग हमारी पीठ के बीच का हिस्सा होता है।

0 टिप्पणियाँ:

एक टिप्पणी भेजें