10/06/2016

गोमूत्र रिफायनरी जहां बेंच सकते हैं 2 रु. किलो गोबर और 5 रु. किलो गोमूत्र


गोपालकों के लिए एक अच्छी खबर। राजस्थान के जालोर जिले के सांचोर में एक ऐसी गोशाला खोली गई है जो गोपालकों से गाय का गोबर और गोमूत्र खरीद रही है। भारत में श्रीपथमेड़ा गोधाम इस तरह की यह पहली गोमूत्र रिफायनरी है।

गोपालकों के सामने यह समस्या रहती है कि दूध देना बंद करने के बाद गाय को पाले रखना महंगा सौदा साबित होता है जिसके चलते वे उसे किसी भी दाम पर बेंच देते हैं। बड़े दुःख की बात है कि ऐसी गायें कभी-कभी कसाईयों के हाथ लग जाती हैं। ऐसे में श्रीपथमेड़ा गोधाम द्वारा उठाया यह कदम बहुत सराहनीय है। जब गोबर और गोमूत्र से ही गोपालकों को आमदनी होगी तो फिर वे उसे कभी नहीं बेंचना चाहेंगे।

श्रीपथमेड़ा गोधाम में गोमूत्र से कई उत्पाद तैयार किये जाते हैं फ्लोर क्लीनर, हैंडवॉश, गोमूत्र का अर्क इत्यादि। यह गोशाला गोबर से बिजली भी बनाने पर भी काम कर रही है। गोबर से बिजली बनाने का प्रोजेक्ट पूरा हो जाने के बाद इस प्लांट से हर घंटे 2 मेगावॉट बिजली बनाई जा सकेगी। इसमें प्लांट में प्रतिदिन 200 टन गोबर की खपत होगी।

अधिक जानकारी के लिए आप श्रीपथमेड़ा गोधाम गोशाला की वेबसाइट www.pathmedagodham.org पर विज़िट कर सकते हैं।

0 टिप्पणियाँ:

एक टिप्पणी भेजें